oh my rajasthan! logo
 

मकर संक्रांति पर बगैर मंजूरी नहीं लगा पाएंगे बर्ड रेस्क्यू कैंप

पिछले साल कुछ बर्ड्स के मिस-हैंडलिंंग के चलते हताहत होने की सूचना आई थी जिसके चलते इस बार यह व्यवस्था की गई है।

Scroll down for more.!

Injured birds on Makar Sakranti

Injured birds on Makar Sankranti

मकर संक्रांति पर पतंग के मांझे से घायल होने वाले बेजुबान पक्षियों के लिए विभिन्न स्वयं सेवी संस्थाओं की ओर से लगाए जाने वाले कैंप इस बार दिखाई नहीं देंगे। असल में वन विभाग ने इस पर अपनी आपत्ति जताई है। विभाग का मानना है कि यह बचाव कैंप बगैर विभाग की सहमति से लगते हैं जो कि नियम विरूद्ध लगते हैं। ऐसे में इनके खिलाफ कार्रवाई होगी। अगर किसी भी संस्था को यह कैंप लगाने हैं तो उससे पहले वन विभाग से स्वीकृति लेनी होगी। उक्त आदेश डीएफओ सुदर्शना शर्मा ने जारी किए हैं। असल में पिछले साल कुछ बर्ड्स के मिस-हैंडलिंंग के चलते हताहत होने की सूचना आई थी जिसके चलते इस बार यह व्यवस्था की गई है।

जानकारी के अनुसार, पिछले साल मकर संक्रांति पर पक्षी प्रेमी, एनजीओ और संस्थाओं ने शहरभर में करीब 55 से अधिक सहायता कैंप लगाए थे। हालांकि इनमें से एक ही संस्था के भी कई कैंप थे। इनमें से कुछ ऐसे भी होते हैं जिन्हें इस काम का कोई अनुभव नहीं है और जो नंबर वो रिलीज करते हैं, उन पर या तो फोन रिसीव नहीं होते या फिर सर्विस खराब होती है। ऐसे में पक्षियों को रेस्क्यू करने और डेटा उठाने में दिक्कत आती है। वन विभाग को इसकी सही रिपोर्टिंग भी नहीं हो पाती।

ऐसी स्थिति से निपटने के लिए शर्मा ने कहा है कि हम चाहते हैं कि कैंप से पहले इन सभी संस्थाओं को बेसिक ट्रेनिंग दी जाए। यह ट्रेनिंग रक्षा एनजीओ और डब्ल्यूआईआई के सहयोग से दी जाएगी। ट्रेनिंग कैंन 9 व 10 जनवरी को एफटीआई में लगाए जाएंगे।

Tags

See Also

News

rajasthan tourist diaries

सुर्खियां

rajasthan tourist diaries
Contact Us
Oh My Rajasthan !
:
Maroon Door Communications Private Limited,
520-522, North Block, Tower-2,
World Trade Park,
Jaipur, Rajasthan,
India 302017
:
0141 - 2728866
Quick Links
Follow Us
oh my rajasthan! instagram
Get In Touch

Copyright Oh My Rajasthan 2016