oh my rajasthan! logo
 

राजे सरकार के 4 साल - जाने जैसलमेर में किन क्षेत्रों में कितना विकास?

वर्तमान राज्य सरकार 13 दिसम्बर को 5वें वर्ष में प्रवेश कर रही है। सरकार ने अपने चार साल के कार्यकाल में जिले में विभिन्न विकास कार्यों, जनकल्याणकारी कार्यक्रमों तथा फ्लेगशिप योजनाओं पर 1460 करोड़ रुपए व्यय किए

Scroll down for more.!

development in jaisalmer

विकसित जैसलमेर का मनोरम दृश्य

जैसलमेर जिले में वर्तमान राज्य सरकार के चार साल के कार्यकाल में विकास की बयार बही। गत चार वर्ष में जिले में आधारभूत संसाधनों के विकास एवं जन सेवाओं की सर्व उपलब्धता पर 1460 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में पानी, बिजली, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य तथा ग्रामीण विकास के उल्लेखनीय कार्य इस अवधि में पूर्ण किए गए।

जिला कलेक्टर कैलाश चन्द मीना ने बताया कि वर्तमान राज्य सरकार 13 दिसम्बर को 5वें वर्ष में प्रवेश कर रही है। सरकार ने अपने चार साल के कार्यकाल में जिले में विभिन्न विकास कार्यों, जनकल्याणकारी कार्यक्रमों तथा फ्लेगशिप योजनाओं पर 1460 करोड़ रुपए व्यय किए, जिससे जिले में मंजर बदल गया है। विस्तृत भू-भाग में फैले जिले में सड़कों का जाल बिछने से दूरियां सिमट गई हैं। वहीं विद्युत तंत्र के विकास से चहुं ओर उजियारा फैला है। जिले में स्वास्थ्य सेवाओं व शैक्षणिक सुविधाओं में बढ़ोतरी से आमजन सुकून महसूस कर रहा है।

सड़क

जैसलमेर जिले में ग्रामीण गौरव पथ के प्रथम चरण में 14.94 करोड़ रुपए व्यय किए गए तथा द्वितीय चरण में 19.94 करोड़ रुपए व्यय किए गए एवं नगरीय गौरव पथ में 5 करोड़ रुपए व्यय किए गए। इसी तरह मिसिंग लिंक योजना में 2015-16 में 7.17 करोड़, वर्ष 2016-17 में 5.06 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत 23.34 करोड़ रुपए व्यय किए गए। इसके साथ ही आर.आई.डी.एफ-19-20 (नाबार्ड) के अन्तर्गत सडकों के पुर्नद्धार कार्य में 22.07 करोड़ रुपए व्यय किए गए। इसी प्रकार जोधपुर से रामदेवरा तक पैदल आने वाले श्रद्धालुओं के लिए पद मार्ग के निर्माण पर 9.71 करोड़ रुपए व्यय किए गए तो मांगनियार समुदाय के विकास के लिए उनकी 37 गांव-ढाणियों को सड़क से जोड़ने पर 21.25 करोड़ रुपए व्यय किए गए।

भवन

जैसलमेर जिले में गत चार वर्षों में कई राजकीय भवनों के निर्माण से सुविधाओं का विस्तार हुआ। इनमें 3 राजस्व भवनों के निर्माण पर 3.77 करोड़, मॉडल स्कूल निर्माण पर 5.51 करोड़ रुपए व्यय हुए। इसी तरह पुलिस के आवासों पर 7.71 करोड़, अल्पसंख्यक बालक व बालिका छात्रावास के लिए 3.81 करोड़ रुपए व्यय किए गए तो वाणिज्यिक पर 2.01 करोड़, तथा नवीन सूचना केन्द्र भवन निर्माण के लिए 2.46 करोड़ रुपए व्यय किए गए।

पेयजल

जैसलमेर जिले में आमजन को सुचारू पेयजल की आपूर्ति के लिए विभिन्न योजनाओं में करोड़ों रुपए खर्च किए गए। जिले में 128 नये नलकूपों को पेयजल से कमीशन किया जाकर पानी की आपूर्ति पर 0.75 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में 657 हैण्डपम्प खोदे जाकर चालू करने पर 0.47 करोड़ रुपए व्यय किए गए एवं आरओ प्लांट निर्माण के लिए 1.64 करोड़ रुपए व्यय किए गए। सेलत मोती किलों की ढाणी संवद्र्धन जलप्रदाय के तहत 2.87 करोड़ रुपए व्यय किए गए। पुनगठित जल योजना मोहनगढ के लिए 3.64 करोड़ रुपए व्यय किए गए। रामदेवरा के रामसरोवर को नहर के पानी से भरने की सौगात पर 2.49 करोड़ रुपए व्यय किए गए।

ऊर्जा

जैसलमेर जिले में बिजली तंत्र में सुधार तथा हर घर तक विद्युत पहुंचानें के लिए दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण ज्योति योजना के तहत 163.87 करोड़ रुपए व्यय किए गए। वहीं जिले में नये गांवों में विद्युतीकरण पर 8.89 करोड़ रुपए व्यय किए गए तथा मुख्यमंत्री सबके लिए विद्युत योजना के तहत 6.90 करोड़ रुपए व्यय किए गए। हर घर बिजली आपके द्वार योजना के तहत 5.89 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में कृषि कनेक्शन पर 87.20 करोड़ रुपए व्यय किए गए एवं ग्रामीण घरेलू विद्युत कनेक्शन पर 23.50 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में बीपीएल घरेलु विद्युत कनेक्शन पर 15.08 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में 298 गांवों में विद्युतीकरण पर 74.12 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में एमएमएसएनवीवाई योजना के तहत 6.90 करोड़ रुपए व्यय किए गए।

स्वास्थ्य

जैसलमेर जिले में चिकित्सा सेवाओं के विस्तार के तहत स्वास्थ्य उप केन्द्र के भवनों के निर्माण पर 1.06 करोड़ रुपए व्यय किए गए। तो भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 0.92 करोड़ रुपए व्यय किए गए एवं मुख्यमंत्री राजश्री योजना के तहत 1.16 करोड़ रुपए व्यय किए गए।

शिक्षा

जैसलमेर जिले में एस.एस.ए के अन्तर्गत सिविल वर्क पर 6.62 करोड़ रुपए व्यय किए गए।जिले में आर.एम.एस.ए के अन्तर्गत सिविल वर्क पर 18.70 करोड़ रुपए व्यय किए गए।जिले में छात्रवृत्ति पर 2.25 करोड़ रुपए व्यय किए।

ग्रामीण विकास

जैसलमेर जिले में सबको आवास के लक्ष्य के तहत प्रधानमंत्री आवास योजना एवं इन्दिरा आवास योजना पर 39.50 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास योजना पर 10.23 करोड़ रुपए व्यय किए गए तो जिले में सांसद स्थानीय विकास योजनान्तर्गत पर 23.98 करोड़ रुपए व्यय तथा गुरू गोलवलकर ग्रामीण जन भागीदारी विकास योजना के तहत 12.36 करोड़ रुपए खर्च कर संसाधनों तथा सुविधाआें का विस्तार किया गया। इसी तरह जिले में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना पर 348.72 करोड़ रुपए से लोगो को रोजगार मुहैया हुआ तथा संसाधनों का विकास हुआ। जिले में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत 38.81 करोड़ रुपए व्यय किए गए जिससे इस वर्ष गांधी जयन्ती पर जिला खुले में शौच से मुक्त हुआ।

मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान

प्राचीन पेयजल स्त्रोतों के रख-रखाव तथा जल संरक्षण के अनूठे कार्यों के तहत जिले में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान के प्रथम चरण में 23.81 करोड़ रुपए व्यय किए गए तथा अभियान के द्वितीय चरण में 21.58 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान शहरी के तहत 1.27 करोड़ रुपए व्यय कए गए।

श्रम व कौशल विकास

जैसलमेर जिले में निर्माण श्रमिक सुलभ्य आवास योजना के तहत 4.77 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना 1.96 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में शुभ शक्ति योजना के तति 7.54 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में सिलिकोसिस पीडित हिताधिकारियों सहायता योजना के तहत 0.10 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में प्रसूति सहायता योजना के तहत 1.66 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में निर्माण श्रमिक की सामान्य अथवा दुर्घटना में मृत्यु या घायल होने पर देय सहायता योजना पर 4.35 करोड़ रुपए व्यय किए गए।

कृषि व पशुपालन

जैसलमेर जिले में कृषि तथा कृषक कल्याण के अन्तर्गत राष्ट्रीय कृषि विकास योजना पर 2.05 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में परम्परागत कृषि विकास योजना पर 0.80 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन पर 7.88 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में कृषि प्रौद्योगिकी प्रबन्ध अभिकरण (आत्मा) पर 1.25 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में नेशनल मिशन ऑन ऑयलसीड एण्ड ऑयलपॉम पर 2.94 करोड़ रुपए व्यय किए गए।जिले में राज्य योजना के तहत 1.93 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में नेशनल मिशन ऑन सस्टेनेबल एग्रीकल्चर पर 0.09 करोड़ रुपए व्यय किए गए।जिले में फार्म पौण्ड के तहत 0.10 करोड़ रुपए व्यय किए गए।जिले में जल हौल निर्माण के तहत 2.14 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में उष्ट्र विकास योजना में 1.28 करोड़ रुपए व्यय किए गए। इसी तरह जिले में सोलर पम्प सैट पर 22.68 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में ड्रिप एवं मिनी स्पि्रंकलर संयंत्रों तथा फव्वारा संयंत्रों की स्थापना पर 0.92 करोड़ रुपए व्यय किए गए।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता

जैसलमेर जिले में उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति के तहत 1.30 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में अनुप्रति योजना पर 0.05 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में विशेष योग्यजन छात्रवृत्ति पर 0.02 करोड़ रुपए व्यय किए गए। विशेष योग्यजन सुखद विवाह अनुदान 0.07 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में विश्वास/मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना 0.41 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में पालनहार योजना 4.90 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले में सहयोग योजना पर 0.51 करोड़ रुपए व्यय किए गए।

पर्यटन एवं देवस्थान

जैसलमेर जिले में लोक देवता रामदेव जी का पेनोरमा निर्माण पर 3.94 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले के कुलधरा गांव में विकास कार्य पर 4.76 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले के सोनार किले का पुनरूद्धार पर 2.86 करोड़ रुपए व्यय किए गए।जिले के राजकीय संग्रहालय में विकास कार्यों के लिए 2.08 करोड़ रुपए व्यय किए गए। जिले के तनोटराय मन्दिर में धर्मशाला व भोजनशाला का निर्माण कार्य पर 1.03 करोड़ रुपए व्यय किए गए।

स्त्रोत: खासखबर

Tags

See Also

News

rajasthan tourist diaries

सुर्खियां

rajasthan tourist diaries
Contact Us
Oh My Rajasthan !
:
Maroon Door Communications Private Limited,
520-522, North Block, Tower-2,
World Trade Park,
Jaipur, Rajasthan,
India 302017
:
0141 - 2728866
Quick Links
Follow Us
oh my rajasthan! instagram
Get In Touch

Copyright Oh My Rajasthan 2016